संत-नेता- अभिनेता सबकी दिवाली जेल में!

दिवाली जहां लोगों के लिए खुशी और हर्षोल्लास का त्योहार हैं, वही इस साल की दिवाली कुछ संत, नेता और अभिनेताओं के लिए खुशी लेकर नहीं आई है। समाज को दिशा दिखाने वाले संत, समाज को चलाने वाले नेता और समाज का मनोरंजन करने वाले कुछ अभिनेता अपनी दिवाली जेल में ही मनाएंगे। हालांकि यह तो विधि का विधान है कि बुरे काम का बुरा नतीजा मिलता है। लेकिन इन भ्रष्टाचारी, दुराचारी और अत्याचारियों को जेल में पहुंचाने का काम लोगों की जागरूकता से संभव हुआ है। मौजूदा वक्त में लोग अपने अधिकारों और काम को लेकर ज्यादा जागरूक हो गए हैं। देश में होने वाले घोटाले और अपराध छुपकर रहने वाले नहीं हैं। यहां आपको बताते हैं किस-किस संत, नेता और अभिनेता की दिवाली जेल में मनने वाली है। कष्ट में बीत रहे संत आसाराम के दिन अपने आप को संत बताने वाले आसाराम के लिए इस साल की दिवाली खुशियों से भरी नहीं होगी। पिछले कई दशकों से दिवाली पर दूसरों को आशीर्वाद के रूप में खुशी बांटने वाले आसाराम इस बार जेल में दिवाली मनाएंगे। आसाराम पर नाबालिग लड़की से यौन शोषण करने का आरोप है। हालांकि आसाराम ने अपनी जमानत के लिए याचिका दाखिल की थी, लेकिन कोर्ट ने उसको खारिज कर दिया। अभी आसाराम जोधपुर जेल में बंद है। दूसरी ओर आसाराम के बेटे नारायण सांई के लिए भी यह दिवाली खुशियों से भरी नहीं होगी। नारायण पर भी महिलाओं के साथ यौन शोषण का आरोप है। वह फरार है और पुलिस उसे ढूंढ रही है। पुलिस से दौड़ते-भागते नारायण को जहां अपने पिता के जेल में बंद होने का दुख है तो दूसरी ओर अपने गिरफ्तार होने का डर है। हास्य-व्यंग्य के बाण जेल में छोड़ेंगे लालू केंद्रीय मंत्री रह चुके लालूप्रसाद यादव भी इस बार अपना खुशियों का त्योहार जेल में मनाते हुए दिखाई देंगे। चारा घोटाले के आरोप में रांची जेल में बंद लालू ने जमानत याचिका तो लगाई, लेकिन उन्हें जमानत नहीं मिली। लालू को घोटाला करने के आरोप में पांच साल की सजा मिली है। इस सजा के साथ ही लालू की संसद की सदस्यता भी रद्द हो गई। जेल में दीये जलाएंगे बाबूलाल नागर राजस्थान सरकार के पूर्व मंत्री बाबू लाल नागर पर यौन शोषण के आरोप हैं। उनकी दिवाली भी जेल में ही मनेगी। सीबीआई के हाथ में केस आने के बाद नागर ने यकीन जताया था कि दूध का दूध और पानी का पानी होगा। लेकिन दिवाली से पहले यह उम्मीदें साकार नहीं हो पाएंगी। वे अपनी दिवाली जेल में ही मनाएंगे। नागर अभी जयपुर सेंट्रल जेल में बंद है। बाहर हैं, पर खुश नहीं होंगे मिश्रा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्रा भी चारा घोटाले में आरोपी हैं। मिश्रा की दिवाली वैसे तो जेल के बाहर मनेगी, क्योंकि वे जमानत पर बाहर है। लेकिन यह त्योहार उनके लिए खुशियों से भरा नहीं होगा। मिश्रा को चार साल की सजा इस आरोप में मिली है और बुढ़ापे में उन्हें इस तरह का कलंक भोगना पड़ा। मसूद की भी रहेगी काली दिवाली पूर्व राज्यसभा सदस्य रशीद मसूद के लिए भी यह दिवाली खुशियों से भरी नहीं होगी। उन पर भी भ्रष्टाचार का आरोप लगा है। रशीद ने मेडिकल कॉलेज दाखिले में धांधली की थी। मसूद को न केवल राज्यसभा सदस्यता खोनी पड़ी, बल्कि इस आरोप में उन्हें चार साल की सजा भी मिली है। संजू बाबा ने पहले ही दे दी शुभकामनाएं फिल्मों से समाज का मनोरंजन करने वाले संजय दत्त की दिवाली भी इस बार जेल में मनेगी। वर्ष 1993 में अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में संजय दत्त को पांच साल की सजा मिली थी। पिछले दिनों परिवार से मिलने के लिए पैरोल पर बाहर आए संजू बाबा को दीपावली से ठीक पहले फिर जेल में लौटना पड़ा। ऎसे में वे अपनी दिवाली जेल में ही मनाएंगे। जेल में जाने से पहले उन्होंने अपने फैंस को दिवाली की शुभकामनाएं जरूर दे दी।

1 comment:

Prasanna Badan Chaturvedi said...

वाह...बहुत सुन्दर....बहुत बहुत बधाई...
नयी पोस्ट@जब भी जली है बहू जली है