दिल्ली में धड़ल्ले से चल रहा पॉर्न बाजार

नई दिल्ली। राजधानी में दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा पॉर्न बाजार असान तरीकों और महज चंद रूपयों में लोगों को पॉर्न की लत लगा रहा है। हैरत की बात तो यह है कि यहां मोबाइल में पॉर्न वीडियो लेने के लिए इंटरनेट कनैक्शन की भी जरूरत नहीं है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक यही पॉर्न पांच वर्षीय "गुडिया" की जिंदगी तबाह करने का जिम्मेदार है। पुलिस ने हाल ही यह खुलासा किया था कि गुडिया के गुनहगारों ने यह दरिंदगी दिखाने से पहले मोबाइल पर पॉर्न वीडियो देखा था। यहां धड़ल्ले से बिकता है पॉर्न दरअसल दिल्ली के पालिका बाजार से लेकर गफ्फार मार्केट और नेहरू पैलेस तक पॉर्न आसानी से उपलब्ध है। इस बाजार को शिखर तक पहुंचाने में बड़ा किरदार निभाया है टेक्नोलॉजी ने। इन बाजारों में पॉर्न ढूंढने के लिए किसी अच्छी दुकान को तलाशने की जरूरत नहीं है और ना ही यहां यह"माल" किसी सीडी या डीवीडी में बिकता है। यहां पॉर्न वीडियो की तलाश खत्म होती है इन बाजारों मेंफुटपाथ पर थड़ी लगाकर बैठे सौदागरों पर। इनके पास प्लाईवुड के टेबल पर एक लैपटॉप और ग्राहकों की सुविधा के लिए कुछ स्टूल या कुर्सियां होती हैं, लेकिन इनकी इस थड़ी के सामान से कहीं ज्यादा "माल" होता है इनके इस लैपटॉप में। लैपटॉप से मोबाइल में बेहिचक ट्रांसफर होता पॉर्न यहां ग्राहकों के मोबाइल फोन में लैपटॉप से वीडियो ट्रांसफर किए जाते हैं, बेशकइसके लिए ग्राहकों से पैसे भी लिए जाते हैं। एक समाचार पत्र के मुताबिक हाई डेफिनीशन से लेकर लो क्वालिटी क्लिप्स के लिए ग्राहक 150 रूपए से 450 रूपएतक अदा करते हैं। एक टीनएजर पॉर्न विके्रता ने बताया, "हमारे पास हाई डेफिनीशन ब्लू फिल्में हैं, लेकिन मैं कहूंगा कि अगर आपके पास एप्पल या सैमसंग फोन है तो ही इन्हें खरीदें,नहीं तो दूसरी लो क्वालिटी क्लिप भी ले सकते हैं।

2 comments:

Sanju said...

Sachmuch manavta gart me ja rahi hai...

Virendra Kumar Sharma said...

good job sir ji .